2 महीने में 18 बार कांपी धरती, क्या होनेवाला है

बार-बार क्यों डोल रही दिल्ली-एनसीआर की धरती, बिहार कितना संवेदनशील?

चर्चित विडियो

  • शिवराज मंत्रिमंडल विस्तार में किसकी चली, सटीक विश्लेषणशिवराज मंत्रिमंडल विस्तार में किसकी..
  • चीन के बाद नेपाल का नंबर! व्यापारियों की सीधी चेतावनीचीन के बाद नेपाल का नंबर! व्यापारिय..
  • पाकिस्तान स्टॉक एक्सचेंज के गेट पर खड़े होकर ताबड़तोड़ गोलियां चला रहे थे आतंकी, देखिए वीडियोपाकिस्तान स्टॉक एक्सचेंज के गेट पर ..

हाइलाइट्स

  • शुक्रवार को देश में दो भूकंप आए, दोपहर में नॉर्थ ईस्‍ट के राज्‍य मिजोरम में भूकंप के झटके लगे, शाम को एनसीआर में
  • पिछले कुछ महीनों से भारत के अलग-अलग हिस्‍सो में लगातार भूकंप आने की घटनाएं दर्ज की गई हैं
  • ज्ञानिकों का कहना है कि हिमालय के आसपास धरती के नीचे काफी उथल-पुथल हो रही है, इस कारण भूकंप आ रहे हैं

नई दिल्‍ली
देश की राजधानी दिल्‍ली और उससे जुड़ा पूरा क्षेत्र शुक्रवार शाम धरती के हिलने से कांप उठा। यहां के निवासियों ने शाम को करीब 7 बजे भूकंप के तेज झटके महसूस किए। जानकारों के अनुसार भूकंप का केंद्र गुरुग्राम से 63 किलोमीटर दूर था। रिक्‍टर स्‍केल पर इसकी तीव्रता 4.5 नापी गई। शुक्रवार दोपहर को ही नॉर्थ ईस्‍ट के राज्‍य मिजोरम में भी भूकंप आया था। पिछले 2 महीने में देश में लगभग 17 से ज्‍यादा भूकंप की घटनाएं हुई हैं।
पिछले कुछ दिनों में भारत के अलग-अलग हिस्‍सो में लगातार भूकंप आने की घटनाएं दर्ज की गई हैं। मिजोरम से पहले 30 जून को कश्‍मीर में 4.4 तीव्रता का भूकंप आया था, इससे पहले 28 जून को मिजोरम में 4.5 तीव्रता के भूकंप ने लोगों में दहशत मचा दी।

घर में आ गई दरार

  • घर में आ गई दरारमिजोरम में 12 घंटे के अंतराल में दो बार भूकंप के तेज झटके महसूस किए गए। भूकंप के बाद की तस्वीरें आ रही हैं जो डराने वाली हैं। तस्वीर में दिख रहे एक घर में भूकंप से दरार आ गई।
  • 4 बजकर 10 मिनट में भूकंप के झटकेमिजोरम में भारत म्यामां सीमा पर स्थित चंफाई जिले के जोखावथार में सुबह 4 बज कर दस मिनट पर भूकंप महसूस किया गया। राज्य के एक अधिकारी ने बताया कि भूकंप राजधानी आइजोल सहित कई स्थानों पर महसूस किया गया।
  • तेज झटकों से चर्च की दीवारें टूटीज़ोखावथार में एक चर्च सहित कई मकान और इमारतें आंशिक रूप से क्षतिग्रस्त हो गई हैं। इसके अलावा भूकंप से कई स्थानों पर राजमार्गों और सड़कों में दरारें आ गई हैं। अधिकारी ने कहा कि नुकसान का पूरी तरह आकलन किया जा रहा है।
  • पीएम मोदी ने दिया मदद का आश्वासनमिजोरम के मुख्यमंत्री जोरामथंगा ने भूकंप के बाद की तस्वीरें शेयर कीं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मिजोरम में सोमवार को भूकंप के बाद राज्य के मुख्यमंत्री जोरामथंगा को केन्द्र से हर संभव मदद का आश्वासन दिया है।

पिछले दो सप्‍ताह से आ रहे झटके
मिजोरम (Mizoram) में शुक्रवार दोपहर 2:35 बजे भूकंप (earthquake) के तेज झटके महसूस किए गए। भूकंप की तीव्रता रिक्टर पैमाने पर 4.6 मापी गई है। हालांकि भूकंप के कारण अभी तक किसी तरह के जान-माल के नुकसान की कोई खबर नहीं मिली है। बता दें कि मिजोरम में बीते दो सप्ताह से आए दिन भूकंप के झटके महसूस किए जा रहे हैं।
केंद्र चंफई पहाड़ी के पास
नेशनल सेंटर फॉर सीस्मोलॉजी (National Center for Seismology) के अनुसार, मिजोरम में शुक्रवार दोपहर 14 बजकर 35 मिनट पर भूकंप आया। इसकी तीव्रता रिक्टर पैमाने पर 4.6 मापी गई है। बताया गया कि भूकंप का केंद्र मिजोरम के चंफई के पास था। बता दें कि इस पहाड़ी राज्य में पिछले सप्ताह भी कई बार भूकंप के झटके महसूस किए गए थे।
मिजोरम में चम्फाई के पास आया भूकंप, 4.5 मापी गई तीव्रता
22 जून को भी आया था भूकंप
मिजोरम में पिछले सप्ताह 22 जून की रात और दोपहर में भी भूकंप आया था। आपदा प्रबंधन अधिकारियों के अनुसार, भूकंप के कारण किसी जान-माल के नुकसान की कोई खबर नहीं मिली।
30 जून को कश्‍मीर में भूकंप
भूकंप के झटके सुबह 8 बजकर 56 मिनट के करीब महसूस किए गए। बताया जा रहा है कि भूकंप का केंद्र कटरा से लगभग 84 किलोमीटर पूर्व में था। नैशनल सेंटर फॉर सिस्मलॉजी के मुताबिक भूकंप का केंद्र जमीन से लगभग दस किलोमीटर नीचे था। इसकी तीव्रता 4.4 नापी गई।
Earthquake in Delhi: बड़े भूकंप की वजह बन सकते हैं छोटे झटके
खतरनाक जोन में है जम्मू-कश्मीर का हिस्सा
भारतीय मानक ब्यूरो ने विभिन्न एजेंसियों से प्राप्त वैज्ञानिक जानकारियों के आधार पर पूरे भारत को चार भूकंपीय जोनों में बांटा है। इसमें सबसे ज्यादा खतरनाक जोन 5 है। वैज्ञानिकों के अनुसार, इस क्षेत्र में रिक्टर स्केल पर 9 तीव्रता का भूकंप आ सकता है। जोन-5 में पूरा पूर्वोत्तर भारत, जम्मू-कश्मीर के कुछ हिस्से, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड गुजरात में कच्छ का रन, उत्तर बिहार का कुछ हिस्सा और अंडमान निकोबार द्वीप समूह शामिल है। इस क्षेत्र में अक्सर भूकंप आते रहते हैं।
एक महीने में 6 बार हिला जम्मू-कश्मीर
जम्मू-कश्मीर में इसी महीने के अंदर 6 बार भूकंप के झटके महसूस किए गए हैं। बीते 15 जून और 16 जून को दो दिनों के अंदर ही चार बार भूकंप के झटके महसूस किए गए।
देश में लगभग 1 महीने में 11 बार आया भूकंप
पिछले एक महीने में भारत में 11 बार भूकंप आ चुका है। दिल्ली-एनसीआर में लगातार भूकंप आ रहे हैं। वैज्ञानिकों का कहना है कि हिमालय के आसपास धरती के नीचे काफी उथल-पुथल हो रही है, इस कारण भूकंप आ रहे हैं। वैज्ञानिकों ने बड़े भूकंप की चेतावनी भी जारी की है।
वीडियो: भूकंप से कितने सुरक्षित दिल्ली-यूपी? IIT कानपुर के प्रफेसर से जानिएवीडियो: भूकंप से कितने सुरक्षित दिल्ली-यूपी? IIT कानपुर के प्रफेसर से जानिएभारत के अलग-अलग हिस्सों में लगातार भूकंप के झटके महसूस किए जा रहे हैं। भूकंप क्यों आता है, कहां भूकंप का खतरा सबसे ज्यादा है, भूकंप आया तो उत्तर प्रदेश, दिल्ली कितने सुरक्षित हैं? इन सभी सवालों के जवाब जानने के लिए एनबीटी ऑनलाइन ने आईआईटी कानपुर में पृथ्वी विज्ञान विभाग के प्रफेसर जावेद एन मलिक से बात की।

Your in currently Olaa.in » Study Materials Free Downloads for all exam , Neet, UPSC,SSC,TNPSC » 2 महीने में 18 बार कांपी धरती, क्या होनेवाला है